Advertisements

साइन्स डिवाइन आंदोलन

साइन्स डिवाइन आंदोलन

      साइन्स डिवाइन आंदोलन का नेतृत्व साक्षी राम कृपाल जी जिन्हे हम प्रेम पूर्वक साक्षी श्री भी कहते हैं,  द्वारा किया जा रहा है। वे एक प्रबुद्ध गुरु और परमात्मा के संदेश वाहक हैं।  साई डिवाइन: साइन्स ऑफ  डिवाइन लिविंग द्वारा उन्होने आध्यात्मिकता का सरलीकरण किया है जिससे कि सामान्य लोग भी उसका अनुभव कर सकें और उससे लाभान्वित हो सकें।  साइन्स डिवाइन, विश्व में प्रेम और ध्यान का संदेश फैलाता है और स्वस्थ तन, स्वस्थ मन एवं आत्म-बोधित आत्माओं युक्त मानवता का निर्माण करता है। साइन्स डिवाइन आपको भौतिक सुविधाओं को भोगते हुए चिरस्थायी आनंद का स्वागत करने में समर्थ बनाता है।

साइन्स डिवाइन के माध्यम से साक्षी श्री एक सशक्त आंदोलन का नेतृत्व कर रहे हैं, और व्यक्तियों को उन विचारधाराओं, अनुष्ठानों, और विश्वास प्रणालियों से मुक्त कराने के लिए सतत कार्यरत हैं जिन्होने मनुष्यता को अंधा और विभाजित कर रखा है।  वे ईश्वर को, “सर्वव्यापी अनंत ऊर्जा जो स्वयं को शांति और आनंद के रूप अभिव्यक्त करती है जिसका कि अनुभव ही ‘प्रबोधन’ है”, के रूप में परिभाषित करते हैं ।

पश्चिम में, अधिकतर लोग अपना समय और ऊर्जा भौतिक उपलब्धियों में लगाते हैं जबकि पूर्व में लोगों ने आध्यात्मिक जागृति के लिये भौतिक जगत को त्याग दिया, जिसके संबंध में उनका विश्वास है कि उनकी दुखों से मुक्ति और प्रसन्नता प्राप्ति में सहायता करेगी।  इसीलिए साक्षी श्री भौतिक और आध्यात्मिक जगत में सामंजस्यपूर्ण संतुलन बनाए रखने पर ज़ोर देते हैं।  साक्षी श्री के “भीतर से सन्यास, बाहर से संसार” यानि बाहरी सांसारिक कर्तव्यों को पूरा करते हुए भीतर से आत्मसमर्पण के जीवन दर्शन का अभ्यास करके, बिना एक दूसरे से सम्झौता किये हुए व्यक्ति दोनों का ही आनंद ले सकता है।

यद्यपि, “विचार शक्ति” के विज्ञान को अपनाकर हम भौतिक जगत में जो भी चाहें प्राप्त कर सकते हैं, फिर भी हमें अंदर से शांति और आनंद की स्थिति में रहने का प्रयास करना चाहिए।  हमें सुख और दुख, लाभ और हानि, विजय और पराजय जैसी द्वंद की स्थिति से बाहर निकलने का प्रयास करना चाहिए।  कार के पहिये बहुत तेज गति से गतिमान होते हैं जबकि धुरी (ऐक्सेल) स्थिर रहती है, इसी प्रकार, व्यक्ति को बाहर से गतिमान और भीतर से धुरी की तरह स्थिर होना चाहिए।

साइन्स डिवाइन संजीवनी शिविरों के माध्यम से साक्षी श्री आनंदमय जीवन एवं आधुनिक युग की बीमारियों से निबटने के प्रभावशाली उपचार के लिये क्रांतिकारी अंतर्दृष्टि प्रदान करते रहे हैं।  उनकी संजीवनी क्रिया, सिद्ध कामना क्रिया, साक्षी साधना आदि जैसी लघु, सामान्य एवं अत्यधिक प्रभावकारी वैज्ञानिक तकनीकियाँ विश्व भर के लोगों में आंतरिक परिवर्तन लाने का कार्य कर रही हैं।

साक्षी श्री अपनी दिव्य वाणी, चमत्कारी दृष्टि और पवित्र स्पर्श द्वारा सकारात्मक ऊर्जा का संचरण करते हैं।  परामपूज्य गुरुदेव अपनी दिव्य शक्तियों द्वारा व्यक्तियों के भूत, वर्तमान और भविष्य को एक खुली पुस्तक की भांति पढ़ लेते हैं।  वे न सिर्फ उनकी समस्याओं का बयान करते हैं, अपितु उनकी हर प्रकार की दैहिक, मानसिक, आर्थिक और पारिवारिक समस्याओं का तत्काल और स्थायी समाधान भी उपलब्ध कराते हैं।

Advertisements

About Ajay Pratap Singh

Blogger, ERP Administrator, Certified Information Security Expert, Spiritual Healer, Translator (E2H)

Posted on फ़रवरी 21, 2013, in कार्यक्रम. Bookmark the permalink. टिप्पणी करे.

टिप्पणियाँ बंद कर दी गयी है.